एबीवीपी नेताओं के हमलावरों को एसएसपी के संरक्षण का खुला आरोप, बर्खास्त करने की मांग

  • मामले में पिटे हल्द्वानी के छात्र नेता का एसएसपी को अभद्र गालियां देने वाला एक कथित ऑडियो भी वायरल
  • राज्यपाल से गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की मांग
  • अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं ने जिला कलक्ट्रेट में प्रभारी अधिकारी को सोंपा ज्ञापन

नैनीताल। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने हल्द्वानी में गत दिवस होलिका दहन के दिन अपने कार्यकर्ताओं के हमलावर बदमाशों को जिले वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के ‘पूरे संरक्षण’ का खुला व सनसनीखेज आरोप लगाया है, और ‘ऐसे अपराधियों को संरक्षण देने वाले जिले के एसएसपी को बर्खास्त कर जिले को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने’ की मांग की है। खास बात यह है कि इस बारे में मंगलवार को जिले के प्रभारी अधिकारी को ज्ञापन देने वाले स्थानीय कार्यकर्ताओं को कोई जानकारी नहीं है। उनका कहना है कि यह ज्ञापन परिषद के प्रदेश नेतृत्व से उन्हें प्राप्त हुआ है, और वे संगठन के निर्देशों का पालन कर रहे हैं। प्रदेश नेतृत्व द्वारा तैयार प्रदेश के राज्यपाल को संबोधित इस ज्ञापन में कहा गया है कि प्रशासन की आड़ में हमलावर अवैध वसूली, लोगों को मारने व नशाखोरी आदि सभी तरह के आपराधिक कार्य करते हैं। लिहाजा हमलावरों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई किये जाने की मांग की गयी है। वहीं मामले में पिटे हल्द्वानी के एक छात्र नेता का एसएसपी को मां की गालिया देने वाला एक कथित ऑडियो भी वायरल हुआ है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश नेतृत्व के लेटर पैड पर राज्यपाल को भिजवाया गया ज्ञापन :

मंगलवार को अभाविप कार्यकर्ताओं जिला कलक्ट्रेट पहुंचकर प्रभारी अधिकारी अशोक कुमार जोशी को प्रदेश के राज्यपाल को संबोधित एक ज्ञापन सोंपा, जिसमें कहा गया है कि कुमाऊं मंडल के प्रवेश द्वार हल्द्वानी में जिस तरह त्योहार के दिन जानलेवा हमला किया गया, इससे शहर के आम निवासी भी दहशत में आ गये थे। ये बदमाश पूर्व में भी हल्द्वानी में कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं, बावजूद पुलिस उन पर हल्की धाराओं में कार्रवाई कर ही इतिश्री कर लेते हैं, और ये वापस छूटकर अपनी हरकतों पर वापस आ जाते हैं। इसलिए इन्हें चिन्हित कर इन पर गैंगस्टर व गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई कर लगाम लगाने की मांग की है। परिषद के विभाग संयोजक मोहित रौतेला, कॉलेज प्रमुख विशाल वर्मा, नगर प्रमुख मोहित लाल साह सहित कृष्णा जोशी, हरीश राणा, जितेंद्र बंगारी, सुमित बिष्ट, धनंजय रावत, मनोज मेहता, आकाश ठगुन्ना, सूरज जंतवाल, राकेश डंगवाल, पूनम बवाड़ी, प्रमोद कुमार व विकास जोशी अपने हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन देने वालों में शामिल रहे।


Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.