पूरा देश हुआ नैनीताल जू का कार्यक्षेत्र, इस कदम के बाद कई छलांगें लगाने की है तैयारी

आगे कई बड़े ऐसे कार्यों के लिए  छलांगें लगाने की है तैयारी, जिनमें से कई देश और कई दुनिया के किसी भी चिड़ियाघर में कहीं नहीं हुए हैं नवीन जोशी, नैनीताल। नैनीताल चिड़ियाघर का कार्यक्षेत्र अब केवल नैनीताल चिड़ियाघर तक ही सीमित नहीं रहा। 2012 से चल रहे प्रयासों के फलीभूत होते हुए इसकी प्रबंधकारिणी समिति का नाम गोविंद […]

Continue Reading

इस बार समय से खिली ‘जंगल की ज्वाला’ संग मुस्काया पहाड़…

नवीन जोशी, नैनीताल। ‘…पारा भीड़ा बुरूंशी फूली रै, मैं ज कूंछू मेरी हीरू रिसै रै….’ देवभूमि उत्तराखण्ड के पहाड़ी जंगलों में पशु चारण करते ग्वाल बालों की जुबान पर यह गीत चढ़ने लगा है। कारण उनका प्यारा लाल, सुर्ख बुरांश का फूल खिलने लगा है। उत्तराखण्ड के राज्य वृक्ष पर लकदक खिला यह फूल सरोवरनगरी के […]

Continue Reading

‘कार्बन न्यूट्रल’ होगा गौलापार हल्द्वानी में प्रस्तावित देश का पहला अंतरराष्ट्रीय चिड़ियाघर

पांच सौ करोड़ की लागत से बनने वाले इस प्राणी उद्यान में आधुनिक अस्पताल भी होगा जहां जानवरों के इलाज के साथ-साथ पहली दफा सर्जरी की भी व्यवस्था होगी वन्य जीव सफारी, मांसाहारी व शाकाहारी जीवों को अलग-अलग खंड, जैव विविधता पार्क और जुरासिक पार्क भी बनेंगे  वन्य जीवों के वासस्थल सीमेंट और कंक्रीट की बजाय लकड़ियों […]

Continue Reading

चिंताजनक: राज्य बनने के बाद चार से पांच गुना गति से घट रहा है नैनी झील का जल स्तर

-1999 की शुरुआत में कमोबेश समान कम बारिश की स्थितियों में प्रतिदिन औसतन 5.3 मिमी की गति से गिरा था जल स्तर, जबकि इधर नवंबर में 23.3 व दिसंबर में 20.2 मिमी गिरा -इधर जनवरी माह में पानी की रोस्टिंग के बाद भी प्रतिदिन 12.7 मिमी की दर से गिरा है जलस्तर नवीन जोशी, नैनीताल। […]

Continue Reading

ग्लोबलवार्मिंग का प्रभाव ! दो माह पूर्व ही “काफल पाको पूसा…!!!” 🤔

नैनीताल। कुमाऊं के सुप्रसिद्ध लोकगीत ‘बेड़ू पाको बारों मासा, ओ नरैंण काफल पाको चैता’ में वर्णित व चैत यानी चैत्र माह के आखिर में पकना शुरू करने वाला और वास्तव में मई-जून की गर्मियों में शीतलता प्रदान करने वाला काफल (वानस्पतिक नाम मैरिका एस्कुलेंटा-Myrica esculenta) इस वर्ष संभवतया अपने इतिहास में पहली बार, कड़ाके की […]

Continue Reading

नये वर्ष में ठंड कम, बारिश अधिक कराएगा अल नीनो !

पिछले वर्षों में अतिवृष्टि के रूप में अपना प्रभाव दिखा चुके अल-नीनो के बाबत यूजीसी के दीर्घकालीन मौसम विशेषज्ञ डा. बीएस कोटलिया का दावा अल नीनो के प्रभाव में सर्दियों में आईटीसीजेड को पर्वतीय राज्यों तक नहीं धकेल पाएगा दक्षिण-पश्चिमी मानसून नवीन जोशी, नैनीताल। उत्तर भारत में बारिश को तरस रही सर्दियों का क्रम आने […]

Continue Reading

बीमार राष्ट्रीय पक्षी को बचाने के लिए बनाया नेबुलाइजर का ‘जुगाड़’

-शेड्यूल एक का प्राणी भारतीय मोर करीब चार दिन से हैं ठंड की वजह से बीमार -नैनीताल चिड़ियाघर में चिकित्सक डा. भारद्वाज कर रहे मनुष्यों के नेबुलाइजर से इलाज नवीन जोशी, नैनीताल। संशाधनों की कमी से ही खासकर ‘अपने हित के लिए जुगाड़’ तैयार होते हैं। शायद इसीलिए भारत को ‘जुगाड़ों का देश’ भी कहा […]

Continue Reading

उत्तरी भारत में भूकंप के हलके झटके महसूस किये गए

बुधवार 31 जनवरी 2018 को उत्तर भारत में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। इसका केंद्र हिंदुकुश हिमालय क्षेत्र में अफगानिस्तान में 36.55 अंश उत्तरी अक्षांस व 70.87 अंश देशांतर के बीच काबुल से 272 किमी उत्तर में स्थानीय समय के अनुसार 11 बजकर छह मिनट 59 सेकेंड यानी भारतीय समय के अनुसार दोपहर […]

Continue Reading

खुलेगा धरती पर डायनासोरों का राज, उत्तराखंड में मिला सिर्फ 35 साल पुराना कंकाल

दुनिया के सबसे विशालकाय जीव माने जाने वाले डायनासोर हमेशा से मानव के लिए उत्सुकता का विषय रहे हैं। इसलिए भी कि जब पृथ्वी से इतने विशाल जीवों का अस्तित्व समाप्त हो गया, तो मानव की क्या बिसात है। कहा जाता है कि धरती से डायनासोरों का विनाश एक विशाल क्षुद्रग्रह के धरती से टकराने […]

Continue Reading

वन्य पशु-पक्षियों का सर्वश्रेष्ठ गंतव्य-नैनीताल, कुमाऊं

नैनीताल जू में जर्मनी, इटली, उजबेकिस्तान से आएंगे हिम तेंदुए -साथ ही दार्जिलिंग से एक नर मारखोर व रेड पांडा भी लाने की चल रही है कोशिश -नस्ल सुधार के लिए ‘ब्लड एक्सचेंज’ यानी ‘रक्त बदलाव’ की प्रक्रिया के तहत पक्षियों व रेड पांडा की अदला-बदली करने की भी चल रही कोशिश नैनीताल। सरोवरनगरी स्थित […]

Continue Reading

नैनीताल में मिले किंग कोबरा के नर-मादा, विश्व रिकार्ड, ग्लोबल वार्मिंग या समृद्ध जैव विविधता का प्रमाण !

-सर्पराज के प्राकृतिक आवास स्थल के रूप में स्थापित हो रहा नैनीताल का दावा -पूर्व में विश्व रिकार्ड 22 फिट लंबे किंग कोबरा के कालाढुंगी में मिले थे अवशेष नवीन जोशी, नैनीताल। कुछ वर्षों पूर्व तक नैनीताल व पहाड़ों पर सांप दिखना बहुत बड़ी बात होती थी, किंतु इधर इस वर्ष नगर में हाल के […]

Continue Reading

एलडीए-डीडीए : काम से अधिक नाकामियों के साथ मिली प्रोन्नति पर उठ रहे सवाल

राष्ट्रीय सहारा, 16 नवम्बर 2017 -1984 में यूपी के तत्कालीन मुख्यमंत्री एनडी तिवारी की पहल पर वृहत्तर नैनीताल विकास प्राधिकरण से हुई थी शुरुआत, 1989 में तिवारी ने ही दिया एनएलआएसएडीए का स्वरूप नवीन जोशी, नैनीताल। 1984 में पूर्ववर्ती उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री पं. नारायण दत्त तिवाड़ी की पहल पर ‘वृहत्तर नैनीताल विकास प्राधिकरण’ […]

Continue Reading

एक दशक के सर्वोच्च स्तर पर नैनी झील, बावजूद ‘रिफ्रेश’ होने पर संशय

-पिछले वर्ष भी नहीं खुल पाये थे झील के गेट, अभी भी 0.35 फिट कम है नैनी झील का जलस्तर नवीन जोशी नैनीताल। किसी भी जल राशि के लिए ‘पानी बदल’ कर ‘रिफ्रेश’ यानी तरोताजा होना जरूरी होता है। मूलतः पूरी तरह बारिश पर निर्भर और वर्ष भर ठहरे रहने वाले पानी वाली नैनी झील […]

Continue Reading

एशिया का पहला जिम कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान और ब्याघ्र अभयारण्य

देश में राष्ट्रीय पशु-बाघों की ताजा गणना के अनुसार बाघों को बचाने के मामले में देश में नंबर-एक घोषित तथा भारत ही नहीं एशिया के पहले राष्ट्रीय पार्क-जिम कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान और ब्याघ्र अभयारण्य को 1973 से देश का ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ के तहत पहला राष्ट्रीय वन्य जीव अभयारण्य होने का गौरव भी प्राप्त है। उत्तराखंड […]

Continue Reading

भगवान राम की नगरी के समीप माता सीता का वन ‘सीतावनी’

देवभूमि कुमाऊं-उत्तराखंड में रामायण में सतयुग, द्वापर से लेकर त्रेता युग से जुड़े अनेकों स्थान मिलते हैं। इन्हीं में से एक है त्रेता युग में भगवान राम की धर्मपत्नी माता सीता के निर्वासन काल का आश्रय स्थल रहा वन क्षेत्र-सीतावनी, जो अपनी शांति, प्रकृति एवं पर्यावरण के साथ मनुष्य को गहरी आध्यात्मिकता के साथ मानो उसी त्रेता […]

Continue Reading