बिन पटाखे, कुमाऊं में ‘च्यूड़ा बग्वाल’ के रूप…

-कुछ ही दशक पूर्व से हो रहा है पटाखों का प्रयोग -प्राचीन लोक कला ऐपण से होता है लक्ष्मी का स्वागत और डिगारा शैली में बनती है महालक्ष्मी नवीन जोशी, नैनीताल। वक्त के साथ हमारे…

राजुला-मालूशाही और उत्तराखंड की रक्तहीन क्रांति की धरती,…

पौराणिक काल से ऋषि-मुनियों की स्वयं देवाधिदेव महादेव को हिमालय पुत्री पार्वती के साथ धरती पर उतरने के लिए मजबूर करने वाले तप की स्थली बागेश्वर कूर्मांचल-कुमाऊं मंडल का एक प्रमुख धार्मिक एवं पर्यटन स्थल…

1830 में मुरादाबाद से हुई कुमाउनी रामलीला की…

[caption id="attachment_3243" align="alignnone" width="300"] Kumaoni Ramlila[/caption] -कुमाऊं की रामलीला की है देश में अलग पहचान नवीन जोशी, नैनीताल। प्रदेश के कुमाऊं मंडल में होने वाली कुमाउनी रामलीला की अपनी मौलिकता, कलात्मकता, संगीत एवं राग-रागिनियों में…

उत्तराखंड : सर्वप्रथम 1897 में उठी थी अलग…

[embed]https://youtu.be/C3AxtuHhpSY[/embed] [caption id="attachment_5599" align="alignnone" width="300"] दो अक्टूबर 1994 को दिल्ली रैली में उमड़ा राज्य आन्दोलनकारियों का रेला, काशी सिंह ऐरी (लाल घेरे में)[/caption] -एक शताब्दी से अधिक लम्बे संघर्ष से नसीब हुआ उत्तराखंड राज्य -सर्वप्रथम…

पुराने चित्रों में नैनीताल की चिर युवा अद्वितीय…

18 नवम्बर : आज के दिन से ही 'बनना और बिगड़ना' शुरू हुआ था नैनीताल [embed]https://youtu.be/_7ifDFqQ2YY[/embed] -आज के ही दिन यानी 18 नवंबर 1841 को अंग्रेज शराब व्यवसायी पीटर बैरन के यहां पड़े थे कदम…

आधुनिक विज्ञान से कहीं अधिक समृद्ध और प्रामाणिक…

विज्ञान के वर्तमान दौर में आस्था व विश्वास को अंधविश्वास कहे जाने का चलन चल पड़ा है। आस्था और विज्ञान को एक दूसरे का बिल्कुल उलट-विरोधाभाषी कहा जा रहा है। यानी जो विज्ञान नहीं है,…

इतिहास के झरोखे से कुछ महान उत्तराखंडियों के…

[caption id="attachment_5857" align="alignleft" width="240"] टिंचरी माई[/caption] वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली – पेशावर कांड के नायक इन्द्र मणि बडोनी: उत्तराखंड का गाँधी देवकी नंदन पांडे: कुमाऊँ का गाँधी अनुसुया प्रसाद बहुगुणा: गढ़ केसरी बद्री दत्त पांडे:…

आपातकाल के लोकतंत्र सेनानी: देर से ली गयी…

नवीन जोशी, नैनीताल। लगता है कि उत्तराखंड सरकार ने 1975-77 के दौर में लगे आपातकाल के दौर में जेलों में ठूंस दिये गये ‘लोकतंत्र सेनानियों’ की सुध लेने में देर कर दी है। कमोबेश बिना…

'जिन्ना' के प्यारे 'राजा अमीर' अब न 'राजा'…

[caption id="attachment_5828" align="alignnone" width="720"] राष्ट्रीय सहारा, 13 जनवरी 2016, पेज-1[/caption] करीब 50 हजार करोड़ की सपंत्ति के मालिक थे राजा अमीर मोहम्मद खान 14 मार्च 2017  को संसद में ध्वनिमत से पारित हुआ 49 वर्ष…

'काले-मैकालों' का नया साल सबको मुबारक हो यारो…

भारत में अंग्रेजी शिक्षा के प्रवर्तक 'लॉर्ड मैकाले' ने कभी अपने पिता को पत्र लिखा था-'आप आस्वस्त रहें, हमें भारत को छोड़ना भी पड़े तो हम यहां ऐसे काले अंग्रेजों को छोड़ जाएंगे, जो अपनी…

नेपाली, तिब्बती, पैगोडा, गौथिक व ग्वालियर शैली में…

"सरोवरनगरी की पहचान से जुड़ा नगर का प्राचीन नयना देवी मंदिर नेपाली, तिब्बती, पैगोडा व कुछ हद तक अंग्रेजी गौथिक व ग्वालियर शैली में भी बना हुआ है। इसकी स्थापना नगर के संस्थापकों में शुमार…

भारत का स्विटजरलेंड, गांधी-पंत का ‘कौसानी’

महाकवि कालीदास के कालजयी ग्रंथ कुमार संभव में नगाधिराज कहे गए हिमालय को बेहद करीब से निहारता और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा ‘भारत का स्विटजरलेंड’ कहा गया 'कौसानी' देश के चुनिंदा प्राकृतिक सौंदर्य से ओतप्रोत…