विश्व व भारत में पत्रकारिता

विश्व व भारत में पत्रकारिता का इतिहास [gallery columns="4" ids="3036,3035,3034,3033,3032,3031,3030,3029,3028,3027,3026,3024"] मानव सभ्यता करीब 150-200 करोड़ वर्ष पुरानी मानी जाती है। उत्तराखंड के कालागढ़ के निकट मिले करीब 150 करोड़ वर्ष पुराने ‘रामा पिथेकस काल’ (Ramapithecus…

फोटोग्राफी की पूरी कहानी

फोटोग्राफी या छायाचित्रण संचार का ऐसा एकमात्र माध्यम है जिसमें भाषा की आवश्यकता नहीं होती है। यह बिना शाब्दिक भाषा के अपनी बात पहुंचाने की कला है। इसलिए शायद ठीक ही कहा जाता है ‘ए…

नैनीताल में ऐसे मनाया गया था 15 अगस्त…

अब वतन आजाद है................................. रिमझिम वर्षा के बीच हजारों लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था माल रोड पर पेड़ों पर भी चढ़े थे लोग आजादी की नई-नवेली सांसें लेने.................. नवीन जोशी, नैनीताल। अंग्रेजों के द्वारा…

विश्व व भारत में रेडियो-टेलीविज़न का इतिहास तथा…

जब से मानव पृथ्वी पर आया है, तभी से वह स्वयं को भावनात्मक रूप से अकेला महसूस करता रहा है। प्रारम्भ में वह संकेतों या ध्वनि के माध्यम से अपनी बात दूसरों तक पहुँचाता रहा,…