भारतीय उपमहाद्वीप के 5700 वर्षों के मानसून के…

चीन व अमेरिका की प्रयोगशालाओं से यूरेनियम सिरीज की आधुनिकतम तकनीकों के जरिए देहरादून के निकट साहिया की गुफाओं के अध्ययन से तैयार किए गए हैं आंकड़े नैनीताल निवासी शोध वैज्ञानिक गायत्री कठायत का ‘15…

खुलेगा धरती पर डायनासोरों का राज, उत्तराखंड में…

दुनिया के सबसे विशालकाय जीव माने जाने वाले डायनासोर हमेशा से मानव के लिए उत्सुकता का विषय रहे हैं। इसलिए भी कि जब पृथ्वी से इतने विशाल जीवों का अस्तित्व समाप्त हो गया, तो मानव…

कुमाऊं विवि में विकसित हो रही ‘नैनो दुनियां’,…

राष्ट्रीय सहारा, 1 अक्टूबर 2016, पेज-1 -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘क्लीन इंडिया मिशन’ परियोजना से भी जुड़ी है यह सफलता -कुमाऊं विवि के डीएसबी कॉलेज स्थित नैनो साइंस एवं नैनो तकनीकी केंद्र ने प्लास्टिक के…

दिवाली पर खुला अंतरिक्ष की ‘बड़ी दिवाली’ का…

-धनतेरस की पिछली शाम वाशिंगटन से हुई है न्यूट्रॉन स्टार्स के टकराने से गुरुत्वाकर्षण तरंगें निकलने की पहली बार घोषणा, एरीज के वैज्ञानिकों की भूमिका भी रही है इस खोज में -इस खोज में एरीज…

आधुनिक विज्ञान से कहीं अधिक समृद्ध और प्रामाणिक…

विज्ञान ने माना, प्राकृतिक नहीं मानव निर्मित है राम सेतु रामसेतु के अस्तित्व को लेकर 'साइंस चैनल' ने तथ्यों के साथ दावा किया है कि रामसेतु पूरी तरह कोरी कल्पना नहीं है। इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं…

विश्व व भारत में रेडियो-टेलीविज़न का इतिहास तथा…

जब से मानव पृथ्वी पर आया है, तभी से वह स्वयं को भावनात्मक रूप से अकेला महसूस करता रहा है। प्रारम्भ में वह संकेतों या ध्वनि के माध्यम से अपनी बात दूसरों तक पहुँचाता रहा,…

मनुष्य की तरह पैदा होते, साँस लेते, गुनगुनाते…

[caption id="attachment_6629" align="alignnone" width="186"] प्रो. क्रिस एंजिलब्रेथ्ट[/caption] -जोहान्सवर्ग यूनिवर्सिटी के प्रो. क्रिस एंजिलब्रेथ्ट ने अपने 'म्यूजिक ऑफ दि स्टार' लेक्चर के जरिये समझाया तारों का संगीत नवीन जोशी, नैनीताल। कहा जाता है मानव और पृथ्वी…

21 जून 'विश्व योग दिवस' को आएगा ऐसा…

नवीन जोशी, नैनीताल। यूं माना जाता है कि जब भी सूर्य किसी लंबवत वस्तु या खड़े मनुष्य के ठीक सिर के ऊपर होते हैं, तो उस वस्तु या मनुष्य की छाया सैद्धांतिक तौर पर नहीं…