/कांग्रेस की राष्ट्रीय नेत्री ने कहा, अभी तो देश में सिर्फ मोदी ही मोदी हैं…..

कांग्रेस की राष्ट्रीय नेत्री ने कहा, अभी तो देश में सिर्फ मोदी ही मोदी हैं…..

-कांग्रेस पार्टी के महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुस्मिता देव ने पत्रकार वार्ता में बेबाकी से रखी राय, कहा – अभी देश में ‘मोदी वर्सेज मोदी’ ही है माहौल, माना हिमांचल में कांग्रेस के विरुद्ध है एंटी इंकमबेंसी का माहौल
-साथ ही कहा गुजरात व हिमांचल के चुनाव परिणाम चाहे जो हों, 2019 के परिणाम इससे अलग होंगे, 2019 में मोदी के वादों पर जवाब देगी जनता
नैनीताल। कांग्रेस पार्टी के महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुस्मिता देव ने शुक्रवार 10 नवम्बर 2017 को नैनीताल में आयोजित पत्रकार वार्ता में बेहद बेबाकी से अपनी राय रखी। कहा कि अभी भी देश में ‘मोदी वर्सेज मोदी’ का माहौल है, यानी एक तरीके से कांग्रेस अभी मुकाबले में नहीं है, और मोदी के वादों-घोषणाओं पर ही चुनाव लड़ा जा रहा है। साथ ही माना कि हिमांचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ‘एंटी इंकमबेंसी’ यानी सत्ता विरोधी माहौल है। अलबत्ता कहा कि हिमांचल में सीएम बीरभद्र सिंह सबसे बड़े नेता हैं, और जनता को उन पर विश्वास है। साथ ही कहा कि गुजरात व हिमांचल प्रदेश के विस चुनाव के परिणाम चाहे कांग्रेस या भाजपा जिसके पक्ष में भी आएं, 2019 के आगामी लोस चुनावों के परिणाम इससे अलग होंगे। 2019 में मोदी के वादों पर जनता जवाब देगी।

नैनीताल क्लब में पत्रकारों से बात करते हुए सुश्री देव ने कहा कि कांग्रेस लोस का पिछला चुनाव सोशल मीडिया सहित सभी मीडिया माध्यमों पर हुए दुष्प्रचार की वजह से हार गयी। कांग्रेस ने अन्य पक्षों को समझने की कोशिश न करने की गलती की। यही गलती अब मोदी सरकार कर रही है। लेकिन पंजाब में सरकार बनाने तथा मणीपुर व गोवा में अच्छे परिणाम हासिल करने के साथ कांग्रेस का पुनरुद्धार शुरू हो गया है। आगे उन्होंने पार्टी की उपाध्यक्ष राहुल गांधी से कहा है कि वे पार्टी की कमान संभालने के साथ कम से कम 30 फीसद राज्यों में महिलाओं को पार्टी की कमान दें, और हर राज्य में कम से कम 3-4 मुख्यमंत्री पद की दावेदारी योग्य स्थानीय नेता तैयार करें, और जीतने पर 30 फीसद राज्यों में महिला मुख्यमंत्री दें तो पार्टी वापस आ सकती है। यह स्वीकारते हुए कि यूपीए सरकार अपने सहयोगी दलों के अंर्तविरोधों के कारण संसद व विस में महिलाओं के लिए 33 फीसद आरक्षण का बिल लोस में नहीं ला पायी, उन्होंने केंद्र सरकार से अपील की कि मोदी पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में हैं, इसलिए अगले शीतकालीन या बजट सत्र में महिला बिल को लोस में लाएं। तभी इसका लाभ 2019 के चुनाव में महिलाओं को मिल सकता है। सोनिया गांधी पहले ही कांग्रेस की ओर से इस बिल को समर्थन का वादा कर चुकी हैं।

पहली बार नैनीताल आगपन पर महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुस्मिता देव का कुमाउनी रंग्वाली पिछौड़ा भेंट कर व पुष्पमालाओं से स्वागत करतीं कांग्रेस कार्यकत्रियां।

इससे पूर्व पहली बार नैनीताल पहुंचने पर महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सरिता आर्य की अगुवाई में महिलाओं ने उन्हें फूलमालाओं से लाद दिया। उन्हें व साथ आई उत्तराखंड प्रभारी सुनीता सहरावत व राष्ट्रीय सचिव अनुपमा रावत के साथ कुमाउनी महिलाओं का परंपरागत वस्त्र रंग्वाली पिछौड़ा भेंट किया। इस मौके पर खष्टी बिष्ट, मुन्नी तिवाड़ी, मंजू बिष्ट व गजाला कमाल सहित कई महिला कार्यकत्रियां मौजूद रहीं।