छोटी बिलायत में दुहराया गया इतिहास ! एक-दूजे के हुए ‘इंग्लिश बाबू-देशी मेम’

-सात समुंदर पार से आई हल्द्वानी की सिम्पी की बारात –विश्व गुरु बनने को उद्यत भारतीय संस्कृति वैश्विक विमर्श के साथ ही आकर्षण का केंद्र भी बनी नवीन जोशी, नैनीताल। अंग्रेजी दौर की ‘छोटी बिलायत’ में जो न जाने कितनी बार हुआ हो, वही इतिहास एक नए रूप में मंगलवार को यहाँ फिर लिखा गया। बताया

बेटियों संग बेटियों की मांओं को भी बचाने की जरूरत, पैदा करने वाले ने ही फोड़ा सर

-दो बेटियां हैं, बेटियां होने के बाद से ही करता है शराब पीकर मारपीट, कोई रोजगार नहीं करता नैनीताल, 27 मार्च 2018। देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान बेटियां पैदा करने वालों को ही शायद समझ नहीं आ रहा है। शायद इसीलिए दो बेटियां पैदा होने पर एक पिता अपनी पत्नी

कुमाऊं के ब्लॉग व न्यूज पोर्टलों का इतिहास

(इस पोस्ट में यदि कुछ तथ्यात्मक सुधार अपेक्षित हों तो जरूर टिप्पणी के माध्यम से या ईमेल saharanavinjoshi@gmail.com के जरिये सुझाएँ ) कुमाऊं के ब्लॉग : ब्लॉगिंग को नये मीडिया का मुख्य आधार कहा जाता है, और वेब पत्रकारिता की शुरुआत सोशल मीडिया से भी पहले ब्लॉगिंग से ही मानी जाती है। निस्संदेह देश में

आज 12 फरवरी को महर्षि दयानंद के जन्म दिवस पर विशेषः उत्तराखंड में यहाँ है महर्षि दयानंद के आर्य समाज का देश का पहला मंदिर

आर्य समाज की 1875 में स्थापना से पूर्व 1874 में महर्षि दयानंद से प्रभावित नगर के लोगों ने नगर में बनाई थी ‘सत्य धर्म प्रकाशिनी सभा’, और की थी आर्य समाज मंदिर की स्थापना नवीन जोशी, नैनीताल। अंग्रेजों द्वारा ‘छोटी बिलायत’ के रूप में 1841 में बसायी गयी सरोवरनगरी नैनीताल के 1845 में ही देश

उत्तराखंड में 25 गुना तक महंगा हुआ ‘आतिथ्य’

नैनीताल। उत्तराखंड के नैनताल स्थित राज्य अतिथि गृह नैनीताल क्लब में ‘आतिथ्य’ 25 गुना तक महंगा हो गया है। यहाँ कार्यक्रम कराना आगामी एक फरवरी 2018 से आठ से 25 गुना तक महंगा हो जाएगा। खासबर गैर शासकीय कार्यक्रमों के लिए शैले हॉल में कार्यक्रम कराने पर अब तक 600 रुपए लगते थे, जबकि अब 15000

इतिहास होने की ओर शेरशाह सूरी के जमाने की ‘गांधी पुलिस’ और ‘गाँधी’…

प्रदेश में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के नाम से ‘गाँधी पुलिस’ कही जाने वाली 150 वर्षों से चली आ रही राजस्व पुलिस व्यवस्था अब इतिहास बन जाएगी। और इसके साथ लगता है कि गाँधी के ‘अहिंसात्मक’ सन्देश भी कहीं पीछे छूट जायेंगे। उत्तराखंड उच्च न्यायलय नैनीताल ने राजस्व पुलिस को तफ्तीश व कार्यवाही में असफल बताते हुए पूरे

चंद राजाओं की विरासत है कुमाऊं का प्रसिद्ध छोलिया नृत्य

नवीन जोशी, नैनीताल। आधुनिक भौतिकवादी युग के मानव जीवन में सैकड़ों-हजारों वर्ष पुरानी कम ही सांस्कृतिक परंपराएं शेष रह पाई हैं। इन्हीं में एक आज कुमाऊं ही नहीं उत्तराखंड राज्य की सांस्कृतिक पहचान बन चुका प्रसिद्ध छल या छलिया और हिन्दी में छोलिया कहा जाने वाला लोकनृत्य है, जो कि मूलतः युद्ध का नृत्य बताया जाता है।

नैनीताल विंटर कार्निवाल-2017: बॉलीवुड सिंगर जुबिन नौटियाल ने गाये उत्तराखंडी गाने

बॉलीवुड सिंगर जुबिन नौटियाल ने गाया अपनी उत्तराखंडी-जौनसारी बोली में गीत बॉलीवुड गायक जुबिन नौटियाल-एसएसपी ने गाए उत्तराखंडी गीत -नैनीताल विंटर कार्निवाल की आखिरी शाम एडीएम ने गाए गीत नैनीताल। सरोवनगरी में आयोजित हुए नैनीताल विंटर कार्निवाल में रविवार की आखिरी शाम यूं तो बॉलीवुड गायक जुबिन नौटियाल के ‘रिमिक्स स्टाइल’ कमोबेश चीखते हुए गाए

उत्तराखण्ड की पत्रकारिता का इतिहास

आदि-अनादि काल से वैदिक ऋचाओं की जन्मदात्री उर्वरा धरा रही देवभूमि उत्तराखण्ड में पत्रकारिता का गौरवपूर्ण अतीत रहा है। कहते हैं कि यहीं ऋषि-मुनियों के अंतर्मन में सर्वप्रथम ज्ञानोदय हुआ था। बाद के वर्षों में आर्थिक रूप से पिछड़ने के बावजूद उत्तराखंड बौद्धिक सम्पदा के मामले में हमेशा समृद्ध रहा। शायद यही कारण हो कि

विश्व व भारत में पत्रकारिता

विश्व व भारत में पत्रकारिता का इतिहास मानव सभ्यता करीब 150-200 करोड़ वर्ष पुरानी मानी जाती है। उत्तराखंड के कालागढ़ के निकट मिले करीब 150 करोड़ वर्ष पुराने ‘रामा पिथेकस काल’ (Ramapithecus age) के माने जाने वाले एक मानव जीवाश्म से भी इसकी पुष्टि होती है। लेकिन मानव में संचार के जरूरी मूलभूत ज्ञानेंद्रियों का

कुमाऊं के लोक देवी-देवता

देवभूमि उत्तराखंड की दो में से से एक व पुरानी कमिश्नरी कुमाऊं अंचल की अपनी अनेक विशिष्टताएं हैं। उत्तर में उत्तुंग हिमाच्छादित नंदादेवी, नंदाकोट व त्रिशूल की सुरम्य पर्वत मालाएं, पूर्व में पशुपति नाथ व गोरखों की धरती नेपाल, पश्चिम में उत्तराखंड की दूसरी कमिश्नरी व चार धामों का गढ़ गढ़वाल तथा दक्षिण में मैदानी

भारत-नेपाल में उत्तराखंड के रास्ते बढ़ेगी पर्यटन साझेदारी

-उत्तराखंड के रास्ते आवागमन बढ़ाने को शुरू हुई पहल नवीन जोशी, नैनीताल। पड़ोसी देश नेपाल में बेहतर हुए राजनीतिक हालातों के साथ नेपाल के पश्चिमी अंचल के पर्यटन व्यवसायियों के प्रतिनिधिमंडल ने भारत का रुख किया है। नेपाल एसोसिएशन ऑफ ट्रेवल एंड टूर एजेंट्स फार वेस्टर्न रीजनल एसोसिएशन-नाटा का प्रतिनिधिमंडल उत्तराखंड से निकटता के मद्देनजर

बिन पटाखे, कुमाऊं में ‘च्यूड़ा बग्वाल’ के रूप में मनाई जाती थी परंपरागत दीपावली

-कुछ ही दशक पूर्व से हो रहा है पटाखों का प्रयोग -प्राचीन लोक कला ऐपण से होता है लक्ष्मी का स्वागत और डिगारा शैली में बनती है महालक्ष्मी नवीन जोशी, नैनीताल। वक्त के साथ हमारे परंपरागत त्योहार अपना स्वरूप बदलते जाते हैं, और बहुधा उनका परंपरागत स्वरूप याद ही नहीं रहता। आज जहां दीपावली का

कुमाउनी ऐपण: शक, हूण सभ्यताओं के साथ ही तिब्बत, महाराष्ट्र, राजस्थान व बिहार की लोक चित्रकारी की भी मिलती है झलक

नवीन जोशी, नैनीताल। लोक कलाएं संबंधित क्षेत्र की सांस्कृतिक धरोहर होने के साथ ही उस संस्कृति के उद्भव और विकास की प्रत्यक्षदर्शी भी होती हैं। उनकी विकास यात्रा में आने-जाने वाली अन्य संस्कृतियों के प्रभाव भी उनमें समाहित होती हैं इसलिए वह अपनी विकास यात्रा की एतिहासिक दस्तावेज भी होती हैं। कुमाऊं के लोकशिल्प के

प्रसिद्ध वैष्णो देवी शक्तिपीठ सदृश रामायण-महाभारतकालीन द्रोणगिरि वैष्णवी शक्तिपीठ दूनागिरि

हिमालय की गोद में बसे आध्यात्मिक महिमा से मंडित और नैसर्गिक प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर दूनागिरि शक्तिपीठ का अपार महात्म्य है। जम्मू के प्रसिद्ध वैष्णो देवी शक्तिपीठ की तरह ही यहां भी वैष्णवी माता की स्वयंभू सिद्ध पिंडि विग्रह मौजूद हैं। कहते हैं कि इन दोनों स्थानों पर अन्य शक्तिपीठों की तरह माता के कोई

\