नैनीताली को फेसबुक पर बॉलीवुड हीरो से हुआ प्यार..पुलिस से लगाई शादी कराने की गुहार

Internet

जी हाँ, नैनीताल की एक युवती को एक बॉलीवुड कलाकार से फेसबुक पर प्यार होने के बाद पुलिस से शादी कराने की गुहार लगाने का रोचक मामला प्रकाश में आया है। कॉलेज व बीएड कर नौकरी की कोशिश कर रही युवती ने अपने एक रिश्तेदार के जरिये नैनीताल की मल्लीताल कोतवाली पुलिस से गुहार लगाईं कि 3-4 महीने से फेसबुक पर प्यार की बातें करने के बाद उसका ‘बॉलीवुड हीरो’ शादी करने से मुकर रहा है, लिहाजा पुलिस हीरो को फटकार कर उससे शादी के लिए मना ले। पुलिस ने इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस की मदद से हीरो का नंबर पता किया तो उसके मुंबई में बॉलीवुड कलाकार होने की पुष्टि हुई। हीरो का कहना था कि युवती उसकी सिर्फ दोस्त है। वह अपने काम में व्यस्त है। उसने युवती से कभी शादी का वादा नहीं किया, बल्कि जो बातें हुईं, वैसी कई ‘फैन्स’ के साथ होती रहती हैं। वैसे भी बिना किसी से मिले शादियाँ केवल फिल्मों में होती हैं, असल जिंदगी में नहीं। कहा कि बिना जानकारी और बगैर एक-दूसरे से मिले किसी को जीवन साथी चुनना किसी के भी भविष्य के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इसलिए युवती को समझाएं कि वह भी शादी नहीं अपने कैरिअर पर ध्यान दे

मामले में पड़ताल करने वाले एसआई पूरन सिंह मर्तोलिया ने कहा कि किशोरियों-युवतियों में इस तरह की प्रवृत्ति समाज के लिए ठीक नहीं है। युवती को काउंसिलिंग कर यह बात समझा दी गयी है। अन्य युवतियों को भी ऐसी घटना से सबक लेना चाहिए।

लिंक क्लिक कर यह भी पढ़ें : बलात्कार, मीडिया, सरकार, समाज और समाधान..

यह भी पढ़ें : नाबालिग ने खुद बनाकर वायरल किया अपना एमएमएस, ह्वाट्सएप एडमिन आया पकड़ में

वायरल हो रहा नाबालिग का एमएमएस।

-ह्वाट्स एप ग्रुप में एमएमएस आने पर सभी सदस्यों ने ग्रुप छोड़ा, आखिरी बचा हल्द्वानी का युवक आया पुलिस गिरफ्त में
नैनीताल। भौतिकतावाद के दौर में खुद से खिलवाड़ और इंटरनेट पर जरा सी चूक नगर की एक नाबालिग के लिए आफत का सबब बन गयी है। आखिर उसे पुलिस की शरण लेनी पड़ी, जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने हल्द्वानी निवासी एक युवक को दबोचा। अलबत्ता, मामले में किशोरी की ही गलती समझ में आने और एमएमएस डिलीट करने के बाद युवक को छोड़ दिया गया। पीड़िता पढ़ाई में उत्कृष्ट बताई गयी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को नाबालिग पीड़िता मल्लीताल कोतवाली पुलिस द्वारा हल्द्वानी निवासी एक युवक को दबोचने के बाद स्वयं भी कोतवाली पहुंची। बताया गया है कि इस नाबालिग छात्रा ने स्वयं ही मोबाइल से अपना अश्लील एमएमएस बनाया, और उसे स्वयं ही ह्वाट्स एप पर अपने किसी मित्र को भेजने के दौरान गलती से ह्वाट्स एप ग्रुप में डाल दिया। गलती समझ में आने पर बाद में उसने कोतवाली पुलिस में गुहार लगाई] लेकिन तब तक यह वायरल हो चुका था। उधर ग्रुप के सदस्यों को मामला पुलिस में जाने की जानकारी मिली, तो एक-एक कर ग्रुप के सभी सदस्यों ने ग्रुप छोड़ दिया। लेकिन शुक्रवार को कोतवाली पुलिस हल्द्वानी निवासी, पूर्व में किसी दुर्घटना के कारण शारीरिक रूप से कमजोर एक युवक को पूछताछ के लिए कोतवाली ले आई। इस पर पीड़ित किशोरी भी कोतवाली पहुंची। इस बीच पुलिस ने जानकारी लेने आये पत्रकारों को भी रोककर अति गोपनीयता बरती। बाद में नगर कोतवाल विपिन चंद्र पंत ने बताया कि सर्विलांस के जरिये युवक को दबोचा गया, किंतु युवती की ओर से आगे कोई कार्रवाई न किये जाने के बाद युवक को छोड़ दिया गया। आगे किसी के पास भी यह एमएमएस मिलेगा तो उस के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। (इनपुट मुनीब रहमान) 

यह भी पढ़ें : विदेशी वेबसाइटें बोल रहीं युवा पीढ़ी पर अश्लीलता का हमला

  • पाकिस्तान में बना था भीमताल का चर्चित एमएमएस !
  • इंटरनेट पर अप्रेल 2010 से है मौजूद

नवीन जोशी,  नैनीताल। सीमाओं के हमले देश की सेनाओं को नुकसान पहुंचाते हैं, पर देश के भीतर बाहरी दुनिया से एक ऐसा हमला हो रहा है, जिससे देश की युवा पीढ़ी के कोमल मन के साथ तन पर तो अश्लीलता का जहर घुल ही रहा है, आर्थिक रूप से भी बड़ी कीमत चुकानी पड़ रही है। मोबाइल पर पाकिस्तान सहित अन्य देशों के नंबरों से फोन आने एवं विदेशों से करोड़ों रुपऐ की लॉटरी खुलने जैसी खबरों के बीच एक और हमला विदेशी अश्लील पोर्न साइटों की ओर से किया जा रहा है। इसी कड़ी में सनसनीखेज खुलासा हुआ है कि गत दिनों भीमताल में स्कूली छात्रा का चर्चित एमएसएस पाकिस्तान में बना हुआ है। यह एमएमएस बीते करीब एक वर्ष से इंटरनेट पर उपलब्ध है।

उल्लेखनीय है की नवंबर-दिसंबर 2010 में निकटवर्ती भीमताल के एक होटल के नाम से एक स्कूली छात्रा का अश्लील एमएमएस खासा चर्चा में आया था। एमएमएस में पर्वतीय स्कूलों की छात्राओं के समान ही आसमानी रंग की कमीज व सफेद रंग का पाजामा पहने युवती को स्थानीय छात्रा समझने में अच्छे-भले जानकार भी धोखा खा गऐ थे, जबकि एमएमएस में युवती जिस तरह का पीले रंग का दुपट्टा या पट्टा डाले हुऐ है, वैसा पहाड़ की लडकियां अमूमन प्रयोग नहीं करतीं। आईजी स्तर पर मामला उठने के बाद भीमताल थाना प्रभारी उत्तम सिंह ने स्वयं मुकदमा दर्ज किया था। बाद में एक स्थानीय युवक ललित मोहन पाण्डे को यह कहकर मामले में बलि का बकरा बनाया गया कि उसकी शक्ल एमएमएस में दिख रहे युवक से मिलती है। हालांकि बाद में उसे उसके मोबाइल में ऐसे 14 अश्लील एमएमएस पाऐ जाने के आरोपों में जेल भेजा गया। बमुश्किल उसे जमानत मिल पाई है। इस मामले की जांच चण्डीगढ़ स्थित प्रयोगशाला को भेजी गई है। लेकिन सच्चाई यह है कि यह 6.22 मिनट का एमएमएस lahore pakistani shy student in school uniform with her cousine (लाहौर पाकिस्तानी शाई स्टूडेण्ड इन स्कूल यूनीफार्म विद हर कजिन) नाम से 24 अप्रेल 2010 से इंटरनेट पर मौजूद है, और इसे कोई भी आसानी से देख सकता है। यह एमएमएस सामान्यता भारत में प्रयोग न की जाने वाली (भारत में विडियो डाउनलोड के लिऐ यू-ट्यूब का प्रयोग किया जाता है) फाइल्स ट्यूब वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। इस एमएमएस पर हॉट पाकिस्तानी कालेज गर्ल्स स्केण्डल्स, पाकिस्तानी स्कूल, पाकिस्तान, लाहौर स्कूल, कपल सैक्स हिडन कैमरा जैसे टैग भी लगे हुऐ हैं। जानकार एमएमएस में युवती द्वारा ‘हाय अल्ला’ जैसा शब्द भी बोले जाने का दावा कर रहे हैं। 

इस आधार पर ई-दुनिया के जानकार आश्वस्त हैं कि यह एमएमएस पाकिस्तान में ही बना व अपलोड हुआ है। ऐसी वेबसाइटें भारत में अश्लील वेबसाइटें प्रतिबंधित होने के बावजूद आसानी से खुल रही हैं, और चलन में हैं। शौकीनों को फाइल्स ट्यूब, एक्स वीडियोज डॉट कॉम, विज डॉट कॉम, फक ओवर माइ सेक्स सरीखी कई विदेशी वेबसाइटें भारत में खुलेआम अश्लीलता परोस रही हैं, देश की युवा पीढ़ी के तन-मन व धन को प्रदूषित व खतरे में डाल रही हैं। इन साइटों से वीडियो क्लिपिंग डाउनलोड करने पर प्रतिमाह सैकड़ों डॉलर का खर्चा वसूला जाता है। बहरहाल, इस चर्चित एमएमएस के मामले में भीमताल थानाध्यक्ष उत्तम सिंह ने स्वीकारा कि उन्हें भी एमएमएस के पाकिस्तानी होने की सूचना है। कुमाऊं आईजी राम सिंह मीणा ने कहा कि बाहरी पोर्न वेबसाइटों को रोकने के क्या प्राविधान हैं, इसका वह अध्ययन करेंगे।

हाँ, यहाँ एक और बात कहना जरूर समीचीन होगा कि मीडिया को अपने क्षेत्र से जोड़कर ऐसे विषयों पर खासकर जल्दबाजी में, बिना तथ्यों की पड़ताल किये कुछ भी प्रकाशित/प्रसारित करने से बचना चाहिए। इससे अपने क्षेत्र की बहुत बदनामी होती है। जैसे इस मामले में भीमताल क्षेत्र की हर लड़की और लड़कों को संदेह की नजर से देखा जाने लगा, जबकी एमएमएस कहीं और का बना हुआ था।

इस तरह भी हो रहा हमला

नैनीताल। इंटरनेट पर सैक्सी हल्द्वानी, सैक्सी नैनीताल, सैक्सी देहरादून, सैक्स स्केण्डल हल्द्वानी, नैनीताल, देहरादून जैसे नामों से भी वीडियो क्लिप मौजूद हैं। खास बात यह भी है बड़ी धनराशि चुकाने के बाद ही डाउनलोड होने वाली यह क्लिप्स वास्तव में एक ही होती हैं, नाम स्वत: शहर के हिसाब से बदल जाते हैं। लड़कियों से अश्लील चेटिंग, वीडियो चेटिंग आदि भी शहर के हिसाब से इंटरनेट पर उपलब्ध हैं, और मोटी कीमत वसूल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *