युवा कुमाउनी लोक गायक पप्पू कार्की भीषण सड़क हादसे में काल कवलित, सीएम ने दी श्रद्धांजलि

नैनीताल जनपद में शनिवार 9 मई की सुबह हुए एक बेहद भीषण व दुःखद सड़क हादसे में देश-दुनिया में प्रतिष्ठा पा चुके युवा, मात्र 34 वर्षीय कुमाउनी लोक गायक प्रवेंद्र सिंह कार्की उर्फ पप्पू कार्की पुत्र किशन सिंह निवासी गोरापड़ाव की मौत हो गई। दुर्घटना में दो अन्य युवा भी काल कवलित हो गये, जबकि अन्य 2 युवा जख्मी हुए हैं। यह सभी लोग हैड़ाखान आश्रम के पास स्थित ग्राम गौनियारो में चल रही रामलीला में बीती रात्रि अपनी प्रस्तुति देकर हल्द्वानी लौट रहे थे। इस दौरान ही उनकी ईओन कार हैड़ाखान रोड पर मुड़कुड़िया के पास अनियंत्रित होकर ऊपर की सड़क से लुड़कती हुई नीचे की सड़क तक आ कर बुरी तरह से दुर्घटनाग्रस्त हो गयी।

दुर्घटनाग्रस्त कार

हादसे में पप्पू कार्की के अलावा गौनियारो गांव निवासी राजेंद्र गौनिया (31) और पुष्कर सिंह (33) पुत्र उत्तम सिंह की भी मौके पर ही मौत हो गई, जबकि लोक कलाकार अजय आर्य (25) पुत्र भुवन प्रकाश आर्य निवासी चोरपानी नैनीताल और जुगल किशोर पंत (25) निवासी करायल छड़ायल हल्द्वानी घायल हो गये। उन्हें स्थानीय लोगों ने 108 एंबुलेंस सेवा की मदद से हल्द्वानी के अस्पताल लाया गया।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट करके पप्पू के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट करके लिखा- ‘कुमाऊं के प्रसिद्ध युवा लोकगायक पप्पू कार्की की असमय मृत्यु का अशुभ समाचार सुनकर धक्का लगा। ईश्वर से उनकी आत्मा को शांति व परिजनों को संबल प्रदान करने की कामना करता हूं।’

Dubai show

A post shared by Pappu Karki (@pappu.karki) on

उल्लेखनीय है कि मूलतः पिथौरागढ़ जिले के थल-पांखू के बीच सेलाबन पट्टी पुंगराऊं निवासी पप्पू कार्की दुबई सहित विदेशों में भी कुमाउनी लोक गीतों की प्रस्तुतियां दे चुके थे। नैनीताल निवासी उनके रिश्तेदार चंद्रशेखर कार्की ने कहा कि उन्होंने एक दूरस्थ गांव का नाम दुनिया में रोशन किया था। आगे उनसे बहुत उम्मीदें थीं, लेकिन असमय काल ने उन्हें छीन लिया। पप्पू अपने पीछे पत्नी व चार वर्षीय पुत्र सहित भरा-पूरा परिवार रोता-बिलखता छोड़ गये हैं, जबकि उनके चाहने वालों में भी शोक की लहर है।

यह भी पढ़ें: नींद के झोंके से ‘लैंड्स इंड’ से हजारों फिट गहरी खाई में समाने से बचीं 25 जिंदगियां

-दिल्ली को जाने वाली रामनगर डिपो की बस चालक के कल पूरे दिन व पूरी रात चलने के बाद हुई दुर्घटनाग्रस्त
-चालक ने होशियारी दिखा सड़क पर ही पलटाई बस, अन्यथा घटना की भयावहता की कल्पना करना भी होता कठिन
नैनीताल, 26  मई 2018। । शनिवार की सुबह दैवयोग से काली होने से बच गयी। सुबह सात बजे के करीब नैनीताल के सूखाताल से कालाढुंगी रोड पर दिल्ली के लिए निकली बस नगर से करीब 5 किमी दूर ही सड़क पर पलट गयी। गंभीर बात यह है कि हादसा बस चालक को नींद का झोंका आने से हुआ। चालक शुक्रवार सुबह 11 बजे रामनगर से दिल्ली जाकर और रात भर बस चलाकर सुबह नैनीताल पहुंचने के बाद फिर सुबह बस लेकर लौट रहा था। गनीमत रही और बस चालक ने आखिरी पलों में होशियारी व सक्रियता दिखाकर बस को ‘लैंड्स इंड’ के निचले वाले मोड़ पर पहाड़ी की ओर टकरा दिया, इससे बस सड़क पर ही पलट गयी, अन्यथा बस का हजारों फिट गहरी खाई में जाना निश्चित था, और ऐसे में बस में सवार 23 सवारियों एवं दो बस चालक-परिचालक का क्या होता व दुर्घटना की कैसी भयावहता होगी, उसकी कल्पना करना भी कठिन है। घटना में तीन महिलाएं चोटिल हुई हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रोडवेज के रामनगर डिपो (बस में पूर्व का भवाली डिपो ही अंकित है) की रोडवेज बस संख्या यूके07पीए-3252 सुबह सात बजे से सूखाताल से दिल्ली के लिए चली बस सवा सात बजे के करीब ही सड़क पर पलटकर दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। दुर्घटना में दो बहनें स्नेहा (16) व सोनाली (19) पुत्री चंद्रशेखर निवासी बी-1/80 डीएलएफ कॉलोनी साहिबाबाद गाजियाबाद तथा नगर के पॉपुलर कंपाउंड निवासी दीपा जोशी (35) पत्नी पंकज जोशी घायल हुईं। मल्लीताल थाने के एसआई पूरन सिंह मर्तोलिया व बारापत्थर चौकी के आरक्षी ललित व अन्य कर्मियों ने बस का पिछला शीशा तोड़कर घायलों को बाहर निकाला। बस को रोहित कुमार चला रहा था, जबकि परिचालक विजय सिंह था।

रात-दिन लगातार चलना रहा दुर्घटना का कारण

नैनीताल। उल्लेखनीय है कि सूखाताल से दिल्ली की यह बस सूखाताल से सुबह सात बजे चलती है, करीब साढ़े नौ बजे रामनगर पहुंचती है। वहां से इसे एक नया ड्राइवर करीब 11 बजे लेकर दिल्ली के लिए चलता है। शाम करीब 6-6.30 बजे लगातार चल कर बस दिल्ली पहुंचती है, और वहां करीब 1-1.30 घंटे आराम के बाद ही रात्रि आठ बजे यही ड्राइवर इसे लेकर लेकर नैनीताल के लिए चलता है, और पूरे दिन के बाद पूरी रात्रि चलकर सुबह करीब 4 बजे नैनीताल पहुंचता है, और 2-3 घंटे के ही आराम के बाद उसे यह बस फिर से रामनगर ले जानी होती है। समझना आसान है कि इतनी लंबी यात्रा में चालक थका हुआ व नींद के झोंके में होता है, इसलिए बस को तेज भी चलाता है। इस बस के हमेशा तेज चलने की शिकायत भी आती रहती है। आज भी यह बस काफी तेज गति में बताई गयी है। इसी कारण बीते नवंबर माह में भी यहीं बस दिल्ली से आते हुए बारापत्थर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी।

यह भी पढ़ें : रात भर दिल्ली से चले चालक को झपकी आने से नाले में गिरी सैलानियों की कार

-दैवयोग से बची दो परिवारों की जान

रविवार को रूसी नाले में पुलिया से नीचे गिरी कार।

नैनीताल, 13 मई 2018। दिल्ली से रात भर चलकर नैनीताल आ रहे दिल्ली के सैलानियों की वैगनआर संख्या डीएल एससीपी-3575 रविवार सुबह तड़के करीब सात बजे चालक को झपकी आ जाने की वजह से शहर से पांच किमी पहले हल्द्वानी रोड पर अनियंत्रित होकर रूसी नाले की पुलिया सेे नीचे जा गिरी। हादसे में दो परिवारों के आधा दर्जन लोग घायल हो गए। दुर्घटना में कार चला रहे कमल चावला पुत्र हेमराज निवासी सी-138 डीडीए फ्लैट जहांगीर पुरी पंजाबी बाग दिल्ली, उनकी पत्नी 26 वर्षीय दीपिका व 11 वर्षीय बेटी जाह्नवी तथा उनके पड़ोसी 40 वर्षीय सुरजीत व सुरजीत की पत्नी 32 वर्षीय शशि तथा 11 वर्षीय बेटा इशांत घायल हो गए। गनीमत रही कि कार कम गहराई में गिरकर ही अटक गई, अन्यथा हादसा अधिक भयावह हो सकता था। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे प्रभारी थानाध्यक्ष मनवर सिंह, आरक्षी राजा राम, उमेश सती व अन्य ने मौके पर पहुंचकर घायलों को आपातकालीन 108 एंबुलेंस के माध्यम से बीडी पांडेय अस्पताल लाकर उपचार कराया गया। सभी घायल खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। बताया गया कि दोनों परिवार रात्रि 12 बजे के आसपास चले थे, और रात भर चलते रहे थे।

यह भी पढ़ें : बागेश्वर के दो वाहन सवारों के लिए अमंगलकारी साबित हुई मंगलवार की सुबह, एक की मौत, 9 घायल

नैनीताल, 17 अप्रैल 2018। हल्द्वानी रोड पर आमपड़ाव के पास मंगलवार की सुबह दो वाहनों के लिए अमंगलकारी साबित हुई। यहां एक ट्रक व जीप में आमने-सामने की जोरदार टक्कर के बाद दोनों वाहन खाई में जा गिरे। दुर्घटना में ट्रक चालक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि जीप चालक सहित जीप में सवार नौ लोगों को चोटें आई हैं। सभी को 108 आपातकालीन सेवा की मदद से हल्द्वानी ले जाया गया है। खास बात यह है कि दोनों वाहनों में सवार सभी लोग बागेश्वर जिले के निवासी हैं।
घटनाक्रम के अनुसार मंगलवार सुबह ट्रक संख्या यूके04सीए-5479 बागेश्वर से खड़िया लेकर हल्द्वानी और मैक्स जीप संख्या यूके02टीए-0978 हल्द्वानी से बेरीनाग जिला बागेश्वर की 8 सवारियों को लेकर जा रही थी। सुबह करीब साढ़े छह बजे ‘भट्ट जी का भुट्टा’ के लिए प्रसिद्ध मटियाली बैंड मोड़ पर संभवतया ट्रक के ब्रेक फेल हो जाने के बाद चालक किशन सिंह गड़िया (42) पुत्र हयात सिंह गड़िया निवासी ग्राम पोथिंग कपकोट, जिला बागेश्वर ट्रक पर नियंत्रण नहीं रख पाया, और ट्रक अनियंत्रित होकर सामने से आ रही जीप से टकराकर उसे लेकर करीब 12 फिट गहरी खाई में जा गिरा। दुर्घटना में ट्रक चालक ट्रक के भीतर कुचल गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। अलबत्ता, दोनों वाहन नीचे घूमकर आ रही रोड से पहले ही दैवयोग से ऊपर पेड़ पर अटक गए, जिस कारण जीप सवार लोग बाल-बाल बच गये। मौके पर दल-बल के साथ पहुंचे ज्योलीकोट चौकी प्रभारी मनवर सिंह ने घायल जीप चालक ग्राम महरोड़ी जिला बागेश्वर निवासी मोहन जोशी (35) पुत्र बच्ची राम जोशी, इसी गांव के हेमंत सिंह (62) पुत्र पान सिंह, उनकी पत्नी पार्वती देवी (60) के साथ ही ग्राम वनतोला बेरीनाग निवासी गीता कठैत (33) पुत्री खीम सिंह, उसका भाई पवन सिंह (24 ग्राम मदगांव कमेड़ीदेवी निवासी उमेश रावत (21) पुत्र खुशाल रावत व उनके भाई चंचल सिंह (24) तथा हुकुम सिंह (42) पुत्र पान सिंह, जीतेंद्र रावत (23) पुत्र दीवान रावत तथा ग्राम लोहाथल बेरीनाग निवासी बलवंत सिंह (21) पुत्र प्रकाश सिंह को खाई से निकालकर 108 की मदद से हल्द्वानी भिजवाया और मृतक के शव को पंचनामा भरकर परिजनों को सूचित किया, तथा बाद में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

यह भी पढ़ें : रामगढ़ के पास पर्यटक वाहन गिरा खाई में, नोएडा के एक स्कूल के 8 छात्र घायल

दुर्घटनाग्रस्त बुलेरो।

-तीन गम्भीर सहित सभी को हायर सेंटर किया रेफर, भवाली व मुक्तेश्वर पुलिस पहुँची मौके पर
दान सिंह लोधियाल, धानाचूली। मुक्तेश्वर से काठगोदाम जा रही पर्यटकों से भरी एक बुलेरो रामगढ़ से चार किलोमीटर पहले दुत्कानेधार के पास अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी। जिसमे चालक सहित सभी सात सवारियां घायल हो गईं। घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद रामगढ़ ले जाया गया जहाँ से तीन घायलों को हॉयर सेंटर रेफर कर दिया है। मुक्तेश्वर के थानाध्यक्ष कैलाश जोशी ने बताया सभी घायल जेनेसिस ग्लोबल स्कूल सेक्टर 132 नोएडा के छात्र-छात्राएं हैं।

जानकारी के अनुसार  नोएड़ा ग्लोबल स्कूल केे छात्र मुक्तेश्वर घूमने आये थे और बुधवार को बुलेरो संख्या यूके 04 टीए6658 से काठगोदाम को वापस लौट रहे थे। रामगढ़ से पहले उनका वाहन दुत्तकानेधार के पास अनियंत्रित होकर करीब 50 से 60 फिट गहरी खाई में जा गिरा। जिसमे सवार वाहन चालक मोहन सिंह पुत्र किशन सिंह उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम सतबुंगा थाना मुक्तेश्वर जिला नैनीताल, आस्था जैन पुत्री संजीव जैन उम्र 25 वर्ष निवासी 86 सुदर्शन अपार्टमेंट आईपी एक्सटेंशन नई दिल्ली, फतेह सिंह भुल्लर पुत्र अरविंदर सिंह उम्र 17 वर्ष निवासी GP ग्रीन्स नोएडा, शिवांग गोयल पुत्र विभोर गोयल उम्र 17 वर्ष निवासी अशोका फॉर्म बरेली, नवनीत अरोरा पुत्र जसवीर अरोरा उम्र 17 वर्ष निवासी सेक्टर 36 नोएडा, परख शर्मा पुत्र वंदना शर्मा उम्र 17 वर्ष निवासी 166 कमला नगर नई दिल्ली, सागर महाजन पुत्र प्रदीप महाजन उम्र 17 वर्ष निवासी सेक्टर 51 नोएडा, भरत कंबोज पुत्र अनुपम कंबोज उम्र 17 वर्ष इंदिरापुरम गाजियाबाद को रामगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद हल्द्वानी रेफर किया गया है शिवांग गोयल व नवनीत मोहन सिंह गौड़ गम्भीर घायल बताए जा रहे हैं। सभी को हायर सेंटर सुशीला तिवारी हल्द्वानी रेफर कर दिया गया है। भवाली थाने के कोतवाल उमेद सिंह दानू ने बताया घटना की जानकारी घायलों के परिजनों को दे दी है। उधर दुर्घटना की जांच पुलिस ने शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल के भीमताल में सूमो खाई में गिरी, एक ही परिवार की तीन पीढ़ियों की मौत

21 मार्च 2018। नैनीताल के भीमताल में बोहराकून के पास धारचूला से हल्द्वानी को जा रही एक टाटा सूमो संख्या यूए 05 टीए 1956 खाई-हैंडल लॉक होने से बोहराकून-भीमताल के बोहराकून के पास लगभग 6 सौ मीटर गहरी खाई में गिर गयी। सूमो में 10 लोग सवार थे।  थी। स्थानीय एवं पुलिस प्रशासन की मदद से घायलों को 108 की मदद से भीमताल के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। इस हादसे में एक ही परिवार की तीन पीढ़ियों, माँ गंगा देवी (75) पत्नी कल्याण सिंह निवासी ग्राम फूलतड़ी धारचूला, उनके पुत्र इंद्र सिंह (50) व पोती ज्योति (19) की मौत हो गयी, साथ ही 8 अन्य लोग घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए हल्द्वानी के हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया है।

दुर्घटना में हिमांशु गोस्वामी पुत्र गणेश गोस्वामी उम्र 11 वर्ष निवासी बीसा बहेड़ पिथौरागढ़, भागीरथी देवी पत्नी गणेश नाथ उम्र 29 वर्ष निवासी बीसा बहेड़, वाहन चालक मदन सिंह पुत्र धर्म सिंह उम्र 30 वर्ष निवासी बलवाकोट पिथौरागढ़, चरखू पुत्र चतरीमान उम्र 25 वर्ष निवासी चतुरी मांझी खुटहन झारखंड, शांति देवी पत्नी मोहन सिंह उम्र 40 निवासी हल्दूचौड़, मंगल राउत पुत्र महादेव राउत खुटहल झारखंड , कमला देवी पत्नी पान सिंह 29 वर्ष निवासी इंद्रा नगर हल्द्वानी, विकास मांझी पुत्र पवन मांझी उम्र 19 वर्ष निवासी चतुर मांझी झारखंड गंभीर रूप से घायल हो गये। इसके अलावा दो अन्य लोग गंभीर बताए जा रहे है।

अल्मोड़ा के सल्ट ब्लॉक में केएमओयू की बस दुर्घटनाग्रस्त, 13 की मौत

13 मार्च 2018।अल्मोड़ा जिले के सल्ट ब्लाक के दानापानी में चीरधार-गोलूधार टोटाम से करीब 4 किमी आगे कुमाऊँ मोटर ऑनर्स यूनियन (केएमओयू) की एक बस खड़ी चट्टान पर करीब 250 मीटर गहरी खाई में गिरकर दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। हादसे में बस के चालक भैरव दत्त लोहनी दो महिलाओं सहित 13 यात्रियों की मृत्यु हो गयी है, जबकि 12 लोग घायल हो गए हैं। बस देघाट से रामनगर को आ रही थी। दुर्घटनाग्रस्त बस संख्या यूके 19 पीए 0016 में 27 लोग सवार थे। दुर्घटना एक जीप को पास देने की वजह से हुई बताई गई है। घायलों को रामनगर के संयुक्त चिकित्सालय में उपचार चल रहा है।

घटना मंगलवार सुबह करीब 8.15 बजे की है। दुर्घटना में 11 लोगों की मौत घटनास्थल पर, जबकि दो की बाद में रामनगर में उपचार के दौरान मौत हो गई। पुलिस प्रशासन, एंबुलेंस और रेस्कयू टीम मौके पर पहुंच कर बस में फंसे घायलों को निकालने में जुट गई है। राहत कार्य के लिए एसडीआरएफ और एसडीएम मौके पर पहुंच गए हैं, जबकि अल्मोड़ा की जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव और एसएसपी पी रेणुका देवी भी घटना स्थल को रवाना हो गए हैं। दुर्घटना स्थल पर रेस्क्यू का कार्य चल रहा है। मृतकों की संख्या में और वृद्धि हो सकती है। 

इधर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दुर्घटना के प्रति गहरा दुःख व्यक्त करते हुए अधिकारियों को युद्ध स्तर पर बचाव कार्यों और घायलों को यथोचित चिकित्सा सुविधा एवं अनुमन्य मुआवजा राशि यानी मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने के साथ ही दुर्घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।

दुर्घटना में मृतकों के नाम:
  1. बस चालक भैरव दत्त लोहनी पुत्र पान देव (35) निवासी बरंगल स्याल्दे
  2. मंजू देवी पत्नी नरेंद्र सिंह (35) निवासी कुन्हील भिकियासैंण
  3. हेमा देवी पत्नी प्रयाग दत्त (42) निवासी जसपुर स्याल्दे
  4. भगत सिंह पुत्र कुंदन सिंह (45) निवासी पत्थरखोला
  5. सुरेश कुमार पुत्र जगदीश राम (26) निवासी ऐराड़ी रजवार, स्याल्दे
  6. मुकेश कुमार पुत्र फकीर राम (40) निवासी स्याल्दे बाजार
  7. नवीन जोशी पुत्र बाला दत्त जोशी (42) निवासी नेवलगांव
  8. राजेश कुमार पुत्र दीवान राम (42) निवासी बाड़ी बगीचा अल्मोड़ा
  9. दौलत सिंह पुत्र मोहन सिंह (65) निवासी खटलगांव स्याल्दे
  10. धर्मपाल पुत्र हरी सिंह (48) निवासी जयकन उदयपुर स्याल्दे,
  11. गोपाल सिंह पुत्र उत्तम सिंह (45) निवासी दुर्गा मंदिर रोड कृष्णपुरा पानीपत, हरियाणा
  12. सतीश चंद्र जोशी पुत्र हरीश चंद्र जोशी (40) निवासी दानपुर रुद्रपुर
  13. आनंद सिंह बंगारी पुत्र खुशाल सिंह बंगारी (46) निवासी तल्ला भाकुड़ा
दुर्घटना में घायलों के नाम:
  1. हरीश पुत्र त्रिलोक सिंह निवासी चमकना, अल्मोड़ा
  2. चंदर सिंह पुत्र दीवान सिंह निवासी भतरोज खान, अल्मोड़ा
  3. दिलीप सिंह पुत्र हीरा सिंह, टोटाम, अल्मोड़ा
  4. देवी दत्त पुत्र हीरा मणि निवासी उदयपुर, अल्मोड़ा
  5. कलावती चंद पत्नी राजेन्द्र चंद, निवासी जैनेल भिकियासैण 
  6. मोनिका बंगारी पुत्री आनंद सिंह निवासी तल्ला भकूड़ा 
  7. उत्कर्षा बंगारी पुत्री आनंद सिंह निवासी तल्ला भकूडा
  8. चंद्रा देवी पत्नी गजेंद्र सिंह, निवासी धनसुआ
  9. गोपाल राम पुत्र जोगाराम निवासी कवारी, अल्मोड़ा
  10. महेंद्र सिंह, निवासी चिरकड़ा, अल्मोड़ा

5 Replies to “युवा कुमाउनी लोक गायक पप्पू कार्की भीषण सड़क हादसे में काल कवलित, सीएम ने दी श्रद्धांजलि”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.