नैनीताल में महंगी ब्रा-पेंटी चुराती मिलीं लखनऊ की एमबीए व मॉडल बहनें !

पुलिस की गिरफ्त में मुंह छुपाती युवतियां व महिला।

नैनीताल। एक ओर जहां महिलाएं नित नये मुकाम हासिल कर रही हैं, वहीं नैनीताल में लखनऊ की लड़कियों ने अपने कृत्यों से न केवल यूपी वरन महिलाओं की छवि पर बट्टा लगाने का काम किया है। हुआ यह कि नैनीताल के तिब्बती मार्केट की महिलाओं के अंतःवस्त्र एवं अन्य सामग्री बेचने वाली दुकानों से शनिवार को काफी सामान चोरी हुआ। इसके बाद दुकानदारों ने खुद ही सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सामान चुराने वाली युवतियों की तलाश की, और अपनी दुकानों से महिलाओं के अंतःवस्त्र आदि चुराने वाली लखनऊ की युवतियों के एक गिरोह को दबोच लिया। दुकानदार उन्हें पकड़कर कोतवाली पुलिस के सुपुर्द कर आये। पुलिस की तलाशी में उनके पास से चोरी किया गया सामान,महंगी ब्रा-पेंटी र्स नाइटी, पर्स, ब्रेसलेट व कान के झुमके आदि बरामद कर लिये गये। अलबत्ता उनके द्वारा माफी मांग लेने के बाद पुलिस ने 81 उत्तराखंड पुलिस अधिनियम के तहत चालान कर छोड़ दिया। युवतियों में से एक ने खुद को एमबीए की छात्रा व दूसरी ने खुद को मॉडल बताया, जबकि महिला खुद को उनकी मां बता रही थी, अलबत्ता लग नहीं रही थी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार शाम तिब्बती मार्केट के दुकान स्वामी प्रताप राणा व तेंजिंग आदि की दुकानों से महिलाओं के अंतःवस्त्र एवं अन्य सामान चोरी हुआ। दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में युवतियों द्वारा चोरी किये जाने की पुष्टि हुई। रविवार को दुकान स्वामी चोर युवतियों की तलाश पर निकले। पास की एक दुकान में ही इनमें से दो 20-22 की उम्र की युवतियां और एक महिला दिख गयीं। भुवन बिष्ट, रिंकू, मो. उस्मान हनी व करन आदि दुकानदारों की मदद से उन्हें दबोच लिया गया। शुरू में वे आरोपों से मुकरने लगीं, किंतु सीसीटीवी की फुटेज दिखाने पर उन्होंने अपना जुर्म कुबूलते हुए मांफी मांग ली। उन्होंने बताया कि वह 15 जून को नैनीताल आये थे। उनके साथ एक लड़का व एक ड्राइवर भी था, और वे 17 तक के लिए एक होटल में रुके थे।

यह भी पढ़ें: पति-पत्नी घर में चलाते मिले विवाहिता महिलाओं का सैक्स रैकेट

हल्द्वानी, 28 मई 2018। देवभूमि उत्तराखंड में हल्द्वानी की पहचान कुमाऊं मंडल के प्रवेश द्वार की रही है, लेकिन बदलते वक्त के साथ यह नगर सब्जी मंडी, अनाज मंडी के बाद प्रदेश की आर्थिक राजधानी बनने के बाद अब देह व्यापार की मंडी के रूप में कुख्यात होने की राह पर नजर आ रहा है। समाज के एक वर्ग में बढ़ती आय के साथ दूसरे वर्ग के साथ बढ़ती आर्थिक खाई और सामाजिक व्यवस्था में बिखराव के साथ यहां सैक्स रैकेट फल-फूल रहे हैं। एक सप्त्ता्ता के भीतरर ही पहले एक नाती-पोतों वाली महिला द्वारा मंडी के पास मोरारजी नगर में सैक्स रैकेट में दो बच्चों की मां सहित कुछ लोगों को पुलिस द्वारा पकड़े जाने की घटना भुलाई भी नहीं जा सकी है कि मुखानी की अच्छी-भली निशांत कालोनी में सेक्स रैकेट चलने का भंडाफोड़ हुआ है। इस बार पुलिस ने 5 महिलाओं व दो पुरुषों को मौके से आपत्तिजनक सामग्री के साथ गिरफ्तार किया है।  खास बात यह है कि सैक्स रैकेट पति-पत्नी मिलकर अपने घर में चला रहे थे, और जिन महिलाओं का इस्तेमाल किया जा रहा था वे सभी विवाहिताएं हैं।

एसएसपी जनमेजय के निर्देशन में उनकी पीआरओ उप निरीक्षक आरती पोखरियाल के नेतृत्व में महिला आरक्षी अनीता फुलोरिया, आरक्षी नरेन्द्र राणा व हरीश रावत आदि के द्वारा निशांत कालोनी के अपने ही घर में सेक्स रैकेट चला रही संचालिका पायल व उनके पति बिशन सिंह के अलावा कमला चौधरी (20 वर्षीया) पत्नी पानू निवासी कुष्ठ आश्रम राजपुरा, रजनी (25 वर्षीया) पत्नी नीरेन्द्र निवासी कुल्यालपुरा भोटिया पड़ाव, बिमला (24 वर्षीया) पत्नी नरेन्द्र आर्या निवासी भट्ट कालोनी मुखानी व प्रेमवती पत्नी सोमपाल निवासी निशान्त बिहार हीरानगर (सभी नाम बदले हुुुए) के साथ विजय सिंह बिष्ट पुत्र नारायण सिंह बिष्ट (28 वर्षीया) निवासी न्यू आवास विकास हल्द्वानी को गिरफ्तार किया गया। पुलिस सभी के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर आवश्यक कार्यवाही कर रही है।

यह भी पढ़ें : मजबूरी में 2 बच्चों की मां व दादी भी मिली जिस्मफ़रोशी के धंधे में…

नैनीताल। बुधवार 23 मई 2018 को जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी द्वारा अपने पीआरओ उप निरीक्षक आरती पोखरियाल के नेतृत्व में चौकी प्रभारी मण्डी उप निरीक्षक राजेन्द्र सिंह, महिला आरक्षी भागीरथी भंडारी व अनीता फुलोरिया तथा एण्टी हृयूमन सैल की तनुजा व मीना शर्मा आदि के द्वारा ट्रांसपोर्ट नगर के पीछे मोरारजी नगर धानमिल के पास एक किराये के मकान पर सेक्स रैकेट चलता हुआ मिला। टीम के द्वारा सेक्स रैकेट में लिप्त मंडी में मुंशी के रूप में कार्यरत कमेलश मेलकानी पुत्र जगदीश मेलकानी निवासी अशोक नगर तीनपानी एवं 3 महिलाओं को आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार किया गया, जबकि 2 पुरुष मौके से फरार होेने में कामयाब रहे। मौके से संदिग्ध सामान भी बरामद किया गया। सेक्स रैकेट में लिप्त महिलाऐं गोरापड़ाव हल्द्वानी, धानमिल मुरारीनगर हल्द्वानी और दुर्गापुर नं. 1 थाना दिनेशपुर ऊधमसिंहनगर की निवासी बताई गई हैं। सभी के विरुद्ध कोतवाली हल्द्वानी में मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है।

घर तल्ली हल्द्वानी निवासी प्रदीप नाम के व्यक्ति का बताया जा रहा है, जिसे उसने दिनेशपुर की पारूल को किराए पर दिया था। पारुल नाती-पोतों वाली अधेड़ उम्र की महिला है। वह पहले लालकुआं में यही गोरखधंधा चलाती थी। वह गरीब-मजबूर युवतियों-महिलाओं को मोटी कमाई का लालच देकर इस धंधे में लाती थी, और उन्हें ग्राहक उपलब्ध कराती थी। ग्राहकों से मिलने वाली धनराशि का आधा युवती को देकर शेष आधा खुद रखती थी। वहीं पकड़ी गई महिलाओं में एक महिला के दो छोटे-छोटे बच्चे भी हैं। पति मिठाई की दुकान में नौकर है। सभी महिलाओं का कहना है कि वे अत्यधिक आर्थिक मजबूरी में बिना किसी को बताए जिस्मफरोशी करने को मजबूर हैं। 

चीनी युगल को भारत छोड़ने का नोटिस

बुधवार 23 मई को नैनीताल पुलिस के द्वारा दो चीनी नागरिको को भारत छोड़ने के नोटिस थमाए गये। नैनीताल पुलिस ने सेंचुरी प्लप एंड पेपर मिल लालकुआं में निवासरत दो चीनी नागरिक LIAO LIEQING (पारपत्र संख्या G540141496 जारी दिनांक 22.06.2017, etourist वीज़ा संख्या EA5382433) और SHUXIN HE (पारपत्र सख्या G540141496 जारी दिनांक 10.08.2011 etourist वीज़ा सख्या 900E4BC6I) टूरिस्ट वीज़ा लेकर पहुचे थे लेकिन टूरिस्ट वीज़ा की आड़ लेकर सेंचुरी पेपर मिल में अपना कारोबार फैला रहे थे। एसएसपी नैनीताल को जानकारी मिली कि दोनों चीनी यात्री पर्यटक बनकर पहुचे ही जबकि करोबार कर रहे है तभी एसएसपी ने सतर्कता बरतते हुए कार्यवाही को अंजाम दिया है । दोनों को वीजा नियमो का उल्लंघन करने पर विदेशी पंजीकरण अधिकारी-वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल द्वारा आवश्यक कार्यवाही करते हुए भारत छोड़ने के नोटिस (Leave India Notice) निर्गत किये गए। दोनों चीनी नागरिक 19-05-18 को e tourist वीजा में भारत आने के पश्चयात सेंचुरी पेपर एवं प्लप मिल लालकुआं नैनीताल के गेस्ट हाउस में निवासरत थे तथा ई टूरिस्ट वीजा के नियमों के विरुद्ध कारोबार व रोजगार गतिविधियों में लिप्त थे।तभी एसएसपी ने सतर्कता बरतते हुए कार्यवाही को अंजाम दिया ।

पिथौरागढ़ के डीडीहाट से आईएसआई का एजेंट गिरफ्तार

संदिग्ध को गिरफ्तार कर ले जाती यूपी एटीएस

यूपी एटीएस ने डीडीहाट से आईएसआई के एक संदिध को पकड़ा है। संदिग्ध का नाम रमेश कन्याल है। बताया गया है कि कन्याल 2 साल पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग में रसोइये व घरेलू नौकर के रूप में काम कर चुका है। 2017 में भारत लौटने के बाद वह माता-पिता को गांव में छोड़ बच्चों के साथ डीडीहाट में किराये पर रहता और सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान चलाता था। उसका भाई भी भारतीय सेना में कार्यरत है। उससे पाकिस्तानी मोबाइल भी बरामद हुआ है। यूपी एटीएस संदिग्ध को ट्रांसिट रिमांड पर लखनऊ ले गयी है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.